अपराधइंटरव्यूइंदौरदुनियाधारमध्यप्रदेशराष्ट्रीयलाइफ़स्टाइलविडियोशिक्षासाहित्य उपवनस्वास्थ्य

शाहीन बाग खाली कराने के लिए लाठीचार्ज करा सकते थे लेकिन इसलिए नहीं उठाया कदम : मनोज तिवारी

शाहीन बाग खाली कराने के लिए लाठीचार्ज करा सकते थे लेकिन इसलिए नहीं उठाया कदम : मनोज तिवारी

नई दिल्ली: दिल्ली में शाहीन बाग चुनावी मुद्दा बन गया है। दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने सोमवार को शाहीन बाग के धरने पर बयान दिया। तिवारी ने कहा कि शाहीन बाग को प्रदर्शनकारियों से खाली कराने के लिए लाठी चार्ज के विकल्प को इसलिए छोड़ दिया गया क्योंकि वहां पर महिलाएं एवं बच्चे बैठे हैं।

एक सवाल के जवाब में तिवारी ने कहा, ‘शाहीन बाग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को गोली मारने की बातें हुई हैं। क्या सरकार ने कुछ किया? शाहीन बाग में महिलाएं एवं बच्चे धरने पर बैठे हैं, इसे देखते हुए हमने वहां लाठीचार्ज कराने का फैसला नहीं लिया।’ भाजपा नेता ने कहा, ‘हम जानते हैं कि सीएए का विरोध करने वाले लोगों को गुमराह किया गया है।’ बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ शाहीन बाग में गत 15 दिसंबर से धरना चल रहा है। इस धरने के 50 दिन से ज्यादा का समय हो गया है लेकिन प्रदर्शनकारी अपनी जगह से हटने के लिए तैयार नहीं हैं।

प्रदर्शन में शामिल महिलाएं सरकार से सीएए वापस लेने की मांग कर रही हैं लेकिन गृह मंत्री ने स्पष्ट कर दिया है कि सरकार इस कानून को किसी भी सूरत में वापस नहीं लेगी। इस कानून के खिलाफ देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध-प्रदर्शन हुए हैं और इन हिंसक प्रदर्शनों में करीब दो दर्जन लोगों की जान गई है और करोड़ों रुपए की संपत्तियों का नुकसान पहुंचा है। मुस्लिम समुदाय को आशंका है कि सीएए के बाद सरकार एनआरसी लाएगी और उन्हें अपनी नागरिकता साबित करने के लिए कहा जा सकता है।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के मुखिया असदुद्दीन ओवौसी के बयान पर निशाना साधते हुए भाजपा नेता ने कहा कि ‘मोदी के खिलाफ बोलने वाले देश के गद्दार हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हमारी सरकार काफी सहिष्णु है। देश में पीएम मोदी पर जितना हमला हुआ है उतना किसी और नेता पर नहीं।’

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close